उत्तराखंड में बढ़ रहे हैं साइबर क्राइम के मामले, देखिए ये रिपोर्ट

उत्तराखंड में बढ़ रहे हैं साइबर क्राइम के मामले, देखिए ये रिपोर्ट
(Representational Photo: Getty Images)

आइए सबसे पहले सरल भाषा में साइबर क्राइम का अर्थ समझते हैं। किसी कंप्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल व नेटवर्क से कोई अपराध करना जैसे हैकिंग, सपेम ईमेल भेजना, कैमरों के जरिए किसी पर नजर रखना, आदि सभी साइबर अपराध की श्रेणी में आते हैं।

हम आज जिस तेजी से डिजिटल हो रहें हैं। उसी तेजी से साइबर क्राइम के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अक्सर हमें साइबर क्राइम के मामले सुनने को मिलते हैं। पहले साइबर अपराधियों की नजरें शहर के धनी या नौकरीपेशा वाले लोगों पर रहती थी, लेकिन अब यह शहर के छोटे-छोटे गांवों में कस्बों में रह रहे लोगों के साथ भी देखने को मिलती हैं।

इसे भी पढ़ें: कुमाऊं क्षेत्र के लिए राहत की ख़बर, जल्द खुलेगा साइबर पुलिस स्टेशन

उत्तराखंड में बीते वर्ष 2019 के मुकाबले इस वर्ष ज्यादा साइबर क्राइम (अपराध) के मामले सामने आए हैं। आपको बता दें बीते आठ महीनों (जनवरी-अगस्त) तक राज्य में 86 साइबर क्राइम से जुड़े मामले दर्ज हुए हैं। वहीं वर्ष 2019 में साइबर क्राइम से जुड़े 73 मामले दर्ज हुए थे।

(Representational Photo: Getty Images)
साइबर अपराधवर्ष (2019)वर्ष (2020)
टिहरी0306
रुद्रप्रयाग0314
हरिद्वार2925
देहरादून4134
पौड़ी गढ़वाल0101
उत्तरकाशी 0200
चमोली0406
नोट: यह आंकड़े पुलिस रिकार्ड के अनुसार हैं।

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) की एक रिपोर्ट के मुताबिक 2016 से 18 के मुकाबले इस उत्तराखंड में साइबर अपराधों में ढाई गुना वृद्धि हुई है।

साइबर अपराधों में एनसीआरबी की रिपोर्ट

वर्ष साइबर क्राइम के मामले
201662
2017124
2018178