चारधाम देवस्थानम बोर्ड पर उच्च न्यायालय के निर्णय का मुख्यमंत्री ने किया स्वागत

2
206

हिंदू लाइव डेस्क – नैनीताल उच्च न्यायालय द्वारा आज चारधाम देवस्थानम बोर्ड पर दर्ज की गई याचिका को खारिज कर दिया. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि उच्च न्यायालय द्वारा लिए गए इस फैसले का वह स्वागत करते हैं.

चारधाम देवस्थानम बोर्ड पर आए फैसलेे का स्वागत करते हैं

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि उच्च न्यायालय द्वारा आए हुए इस फैसले का वास स्वागत करते हैं. आपको बता दें कि पिछले वर्ष चार धाम यात्रा में लगभग 36 लाख श्रद्धालु आए थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि भविष्य में चार धाम में श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ेगी जिसके लिए हमें श्रद्धालुओं की सुविधाओं और इंफ्रास्ट्रक्चर पर ध्यान देना होगा, इन्हीं कार्यों पर ध्यान रखने के लिए हमने चार धाम देवस्थानम बोर्ड का गठन किया है.

यह भी पढ़े – अब पति के साथ पत्नी को भी मिलेगा जमीन में मालिकाना हक, एक्ट में होगा संशोधन

चारधाम देवस्थानम बोर्ड के निर्णय को जीत हार से ना जोड़ें

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि तीर्थ पुरोहित ने यहां की परंपराओं का हमेशा संरक्षण तथा देव भूमि का मान बढ़ाया है. तीर्थ पुरोहितों द्वारा विपरीत परिस्थितियों में भी श्रद्धालुओं का हमेशा ख्याल रखा गया है. उन्होंने कहा कि तीर्थ पुरोहितों के हकों की रक्षा करने के लिए हम प्रतिबंध है. साथ में उन्होंने कहा कि देवस्थानम बोर्ड पर आए हुए निर्णय को किसी की हार जीत से नहीं जोड़ें. यह हम सबके लिए एक अच्छा फैसला है. मुख्यमंत्री ने दूसरी पार्टियों से भी इस मामले में राजनीति नहीं करने की अपील की है.

चार धाम विकास के लिए गठन किया गया बोर्ड

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बोर्ड का गठन चार धाम के विकास में, प्रबंधन में सुधार और धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए बनाया गया है. भविष्य में बढ़ते हुए श्रद्धालुओं की संख्या को देखते हुए हमने यह बोर्ड बनाया है. साथ ही उन्होंने कहा कि तीर्थ पुरोहितों और चार धाम की मान्यताओं का पूर्ण ख्याल रखा जाएगा.