टिक टॉक पर यूपी के बाद अब उत्तराखंड पुलिस ने भी लगाया प्रतिबंध

देहरादून: लद्दाख की गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों की शहादत के बाद देश में चीनी उत्पादों व मोबाइल एप्स का बहिष्कार किया जा रहा है. इसी कड़ी में उत्तराखंड पुलिस ने भी अपने कामों के लिए टिक टाॅक एप पर प्रतिबंध लगा दिया है. इससे पहले उत्तरप्रदेश सरकार ने भी टिक टाॅक एप सहित 52 चाइनीज एप्स पर प्रतिबंधित लगाया गया है.

उत्तराखंड पुलिस टिक टाॅक पर समाजिक संदेश व जागरूकता संबंधी वीडियो बनातीं है. जहां पर डेढ़ लाख से ज्यादा लोग उन्हें फोलो करते हैं. उत्तराखंड पुलिस ने कहा है कि हमने पहले ही किसी भी तरह के आधिकारिक कार्यों के लिए इस एप को प्रतिबंधित कर दिया है. उत्तराखंड पुलिस ने इससे पहले चाइनीज वीडियो कान्फ्रेंसिंग एप ज़ूम (Zoom) पर प्रतिबंधित लगाया है.

उत्तराखंड डीजी अपराध एवं कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने बताया कि मौजूदा हालात देखकर हमने इस एप पर रोक लगाने का फैसला लिया है. साथ अन्य चाइनीज एप पर नजर रखी जा रही है.

सोशल मीडिया पर लगातार टिक टाॅक एप को प्रतिबंध लगाने की मांग उठ रही है. कई जगहों पर टिक टॉक एप के खिलाफ प्रदर्शन किए जा रहे हैं. लोग इस एप फैमस होने के लिए कभी जंगलों में आग लगा देते हैं. कभी तिरंगा जलाया जाता है.

.