पूर्वमंत्री लाखी राम जोशी ने पीएम को लिखा पत्र, उत्तराखंड मुख्यमंत्री को पद से हटाने की मांग

4

उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है। उत्तराखंड हाई कोर्ट द्वारा मुख्यमंत्री के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश दिए थे, जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी। अब मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के खिलाफ उत्तराखंड में बीजेपी के पूर्वमंत्री लाखी राम जोशी ने मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर त्रिवेंद्र सिंह रावत को तत्काल उत्तराखंड मुख्यमंत्री के पद से हटाने की अपील की है।

यह भी देखें- उत्तराखंड: 4 IAS अधिकारियों के कार्यक्षेत्रों में फेरबदल, IAS मनुज गोयल बने रुद्रप्रयाग जिलाधिकारी

भाजपा के वरिष्ठ नेता लाखी राम जोशी ने उत्तराखंड मंत्री के बयानों और फैसलों पर निशाना साधते हुए कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा लिए गए फैसले सरकार और संगठन को शर्मसार करने वाले हैं।

उन्होंने कहा कि जब 2016 में नोटबंदी हुई थी जिसका सभी जनता ने समर्थन किया था, लेकिन उत्तराखंड मुख्यमंत्री उस समय झारखंड के पार्टी प्रभारी होने के नाते अपने करीबियों के खाते में कालाधन जमा करा रहे थे। उन्होने इसमें हाई कोर्ट के सीबीआई जांच वाले आदेश का भी जिक्र किया।

पूर्वमंत्री लाखी राम जोशी ने लिखा कि नैनीताल हाई कोर्ट में उत्तराखंड मुख्यमंत्री पर इस गंभीर मामले को देखते हुए सीबीआई जांच के आदेश दिए थे, जिसकी वजह से पार्टी की छवि उत्तराखंड में धूमिल होती जा रही है।

पूर्व मंत्री ने उत्तराखंड मुख्यमंत्री को पद से हटाने के लिए प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

यह भी पढ़े- क्या असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM उत्तराखंड में चुनाव लड़ने की तैयारी में है?

जोशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखते हुए कहा कि जल्द ही इस मामले में पार्टी नेतृत्व को संज्ञान लेना चाहिए और त्रिवेंद्र सिंह रावत को तत्काल उत्तराखंड मुख्यमंत्री के पद से हटा देना चाहिए, जिससे कि निष्पक्ष जांच हो सके।