सेम-मुखेम जा रहे केबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को ग्रामीणों ने डोबरा चाटी पुल पर रोका

उत्तराखंड. केबिनेट मंत्री (Cabinet Minister) हरक सिंह रावत सपरिवार सेम मुुुखेम मंदिर के दर्शन को निकले थे। जहां रास्ते में उन्हें ग्रामीणों ने रोक लिया। दरअसल सोमवार को केबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) परिवार समेत सेम मुखेम के दर्शन को निकले थे। डोबरा चाटी पुल (Dobra Chati Bridge) पर बीते एक सप्ताह से विस्थापन की मांग कर रहे रोलाकोट वासियों ने मंत्री की गाड़ी को रोक लिया।

बता दें विस्थापन की मांग को लेकर कई दिनों से ग्रामीणों ने वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा रखी है। धरने पर बैठे ग्रामीणों ने केबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) को बताया कि सरकार उनकी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। साथ ही सरकार से आक्रोशित ग्रामीणों ने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक उनकी विस्थापन की मांग पूरी नहीं हो जाती वह डोबरा चांटी पुल से वाहनों की आवाजाही शुरू नहीं होने देगी।

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड: भाजपा प्रत्याशी नरेश बंसल राज्यसभा की सीट के लिए निर्विरोध निर्वाचित

ग्रामीणों ने मंत्री के काफिले को पुल से रोक लिया इसके पश्चात हरक सिंह रावत को दूसरे रास्ते से मंदिर के दर्शन को जाना पड़ा।