विधायक महेश नेगी को नैनीताल हाईकोर्ट से राहत, गिरफ्तारी पर लगी रोक

8

द्वाराहाट विधायक महेश नेगी पर लगे यौन शोषण मामले पर नैनीताल हाईकोर्ट ने राहत देते हुए विधायक की गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए जांच में सहयोग करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़े- जोशीमठ के माधव आश्रम में 35 लोगो में कोरोना संक्रमण की पुष्टि

विधायक महेश नेगी की गिरफ्तारी पर लगी रोक

बता दे कि विधायक महेश नेगी पर यौन शोषण मामले में दर्ज f.i.r. निरस्त करने और गिरफ्तारी को रोक लगाने के लिए याचिका दर्ज की गई थी। जिस पर कल नैनीताल हाईकोर्ट ने द्वाराहाट विधायक की गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए जांच में सहयोग करने के निर्देश दिए हैं।

बता देे कि 5 सितंबर को देहरादून के नेहरू कॉलोनी थाने में दर्ज एफआईआर को निरस्त करने वह गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए विधायक महेश नेगी ने हाईकोर्ट में याचिका दर्ज की थी। उन्होंने कहा कि देहरादून पुलिस ने उनकी शिकायत दर्ज नहीं की, परंतु दबाव में आकर महिला की ओर से दी गई तहरीर के आधार पर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया ।

नैनीताल हाईकोर्ट की एकलपीठ ने दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद मामले की अगली सुनवाई के लिए 3 सप्ताह बाद की तिथि नियत की है। हाई कोर्ट ने इस मामले में सरकार को 3 सप्ताह के भीतर जवाब दाखिल करने के निर्देश दिए हैं। वही कोर्ट ने पीड़ित महिला को अपना पक्ष रखने के लिए नोटिस जारी किया है।

द्वाराहाट विधायक पर लगा यौन शोषण का आरोप

बता दे, एक महिला ने विधायक महेश नेगी पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। महिला ने का कहना है कि विधायक ने वर्ष 2016 से उसके साथ अलग-अलग स्थानों पर दुष्कर्म किया है। महिला की बच्ची के पिता भी विधायक है और उसका डीएनए टेस्ट करने से पूरे मामले की सत्यता का पता लग जाएगा।

यह भी देखें- हल्द्वानी में स्वीट शॉप में करंट लगने से युवक की मौत, एक कर्मचारी अस्पताल में भर्ती

विधायक की पत्नी ने महिला पर ब्लैकमेल करने का लगाया आरोप

इस प्रकरण में तब मोड़ आया जब विधायक की पत्नी रीता नेगी ने महिला पर अपने पति को ब्लैकमेल करने का आरोप लगाते हुए नेहरू कॉलोनी पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। विधायक की पत्नी ने आरोप लगाया कि पीड़ित महिला उनके पति को बदनाम कर रही है और साथ में 5 करोड की मांग कर रही है। नैनीताल हाईकोर्ट सभी प्रकरणों को एक साथ रखकर सभी मामलों की सुनवाई एक साथ करेगा।