सोशल मीडिया पर फोटो वायरल, उत्तराखंड सरकार पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का आरोप

16

सोशल मीडिया पर उत्तराखण्ड सरकार द्वारा आदेशित एक पत्र की तस्वीर वायरल हो रही है। जिसके बाद उत्तराखंड सरकार पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का आरोप लग रहा है।

यह भी पढ़े- शहीद राकेश डोभाल के आश्रित को मिलेगी नौकरी, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने की घोषणा

क्या है मामला

उत्तराखंड के जिला टिहरी के समाज कल्याण अधिकारी दीपक घिल्डियाल द्वारा हस्ताक्षरित आदेश की तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हो रही है। जिसमें लिखा हुआ है कि राष्ट्रीय एकता की भावना को जीवित रखने और सामाजिक एकता को बनाए रखने के लिए अंतर्जातीय और अंतर धार्मिक विवाह काफी सहायक सिद्ध हो सकते हैं, तथा अंतरजातीय और अंतर धार्मिक विवाह प्रोत्साहन के लिए दंपत्ति को ₹50000 पुरस्कार स्वरूप दिए जाएंगे।

[amp-cta id=’15427′]

उत्तराखंड सरकार पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का आरोप

दीपक घिल्डियाल द्वारा हस्ताक्षरित आदेश की तस्वीर सोशल मीडिया पर बड़ी तेजी से वायरल हो रही है, जिसके बाद अंतर धार्मिक विवाह प्रोत्साहन योजना को लेकर बखेड़ा खड़ा हो गया है। सोशल मीडिया पर उत्तराखंड सरकार पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का आरोप लग रहा है।

आपको बता दे कि अंतर धार्मिक और अंतर्जातीय विवाह को प्रोत्साहित करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने 1976 में नियमावली बनाया गया था, जिसमें दंपति को ₹10000 प्रोत्साहन स्वरूप देने की घोषणा की गई थी।

उत्तराखंड में साल 2014 में तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने इस योजना के नियम से में पुरस्कार की धनराशि को संशोधित कर ₹50000 का पुरस्कार दिए जाने का प्रदान किया था।

मिली जानकारी के अनुसार फोटो वायरल होने के बाद उत्तराखंड सरकार अंतर धार्मिक विवाह प्रोत्साहन योजना में संशोधन करने जा रही है।

उत्तराखंड सरकार पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का आरोप
सोशल मीडिया में वायरल तस्वीर

यह भी देखें- उत्तराखंड में सरकार बनने पर मुफ्त बिजली का देने का वादा- पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत

उत्तराखंड सरकार पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का आरोप लगने के बाद सरकार इस योजना में संशोधन करने के निर्देश दिए हैं। जिसके अंतर्गत इस योजना से अंतर धार्मिक विवाह के मसले को हटा दिया जाएगा और बाकी योजना पहले जैसी रहेगी।