पिथोरागढ़: विधायक हरीश धामी नाले में बहे, कार्यकर्ताओं ने बचाया

न्यूज़ डेस्क पिथोरागढ़। धारचूला विधायक हरीश धामी आपदा प्रभावित क्षेत्रों में भ्रमण कर रहे थे , जिस दौरान आपदा प्रभावित क्षेत्र मोड़ी से लुमती जाते नाले में अचानक मलवा आ गया. जिसमें विधायक का पैर फिसल गए और बहनें लगे. धारचूला विधायक के साथ मोजूद कार्यकर्ताओं ने बहने से बचा लिया.

विधायक हरीश धामी हुए चोटिल

यह भी देखें – ब्रेकिंग न्यूज़: डीएम आशीष चौहान का तबादला, मयूर दीक्षित होंगे उत्तरकाशी के नए डीएम

नाले में बहने के कारण उन्हें चोट भी लगी जिसके बाद कार्यकर्ताओं ने विधायक का सेना चिकित्सक उपचार किया. बता दें टांगा गांव में 19 जुलाई की रात रात को आपदा आई थी. जिसमें एक महिला की मौत हो गई थी. टांगा में बादल फटने से 11 लोगों की मौत हो चुकी है. धारचूला विधायक धामी लगातार पैदल चलकर आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर रहे हैं.

राज्य सरकार पर लगाए आरोप

धारचूला विधायक हरीश धामी ने राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उत्तराखंड में त्रिवेंद्र सिंह रावत के सरकार कुंभकरण के नींद में सोई है जबकि मेरी विधानसभा में 2013 से भी भयंकर आपदा आई है उन्होंने कहा कि तल्ला जोहार से लेकर, गोरी छाल तक हर तरफ तबाही मची हुई है हमें पीड़ित लोगों को रेस्क्यू करने के लिए हेलीकॉप्टर और सेना की मदद की जरूरत है.

यह भी पढ़े – उत्तराखंड की ऐपण गर्ल की राखियां हुई लोकप्रिय, राखियों पर गढ़वाली-कुमाऊनी में लिखा भेजी और दाजू

भारतीय सेना को किया धन्यवाद

विधायक धामी जीने भारतीय सेना का धन्यवाद करते हुए कहा कि यदि आप सही समय पर मेरे विधानसभा क्षेत्र में रेस्क्यू का अभियान नहीं चलाते तो बहुत ज्यादा नुकसान हो सकता था साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत पर निशाना साधते हुए कहा कि आपकी इस अकर्मण्यता के लिए जनता माफ नहीं करेगी.

हरीश धामी ने सभी साथियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि परमात्मा की कृपा से मैं ठीक हूं आप सब लोगों द्वारा मेरी स्वास्थ्य के बारे में जानकारी के लिए बार-बार मुझसे संपर्क किया पैर में लगी चोट सही होने के बाद कल मैं फिर अपने लोगों के बीच जा पाऊंगा.