आत्मनिर्भर: टुंडाचौड़ा के ग्रामीणों ने स्वयं उठाया सड़क निर्माण का जिम्मा

हिन्दू लाइव डेस्क, पिथौरागढ़ :- पिथौरागढ़ गंगोलीहाट के ग्रामसभा टुंडाचौड़ा में ग्रामीण स्वयं मिलकर सड़क का निर्माण कर रहा है़.
उत्तराखंड पिथौरागढ़ के दूरस्थ ग्राम सभा टुंडा चौड़ा जिला मुख्यालय से लगभग 100 किलोमीटर दूर है. क्षेत्र में जिला मुख्यालय जाने के लिए एक ही सड़क है. ग्रामीणों द्वारा बहुत समय से सड़क निर्माण की मांग की गई, परन्तु किसी भी जनप्रतिनिधि ने इस ओर ध्यान नहीं दिया

विभिन्न माध्यम से स्थानीय विधायिका से लेकर उच्च स्तर तक कई बार सड़क की मांग उठाई गई लेकिन गांव वालों के हाथ हमेशा निराशा ही लगी।

17 साल पहले पलायन कर चुके गोविंद सिंह अपनी पत्नी को लेकर पिछले साल गाँव वापिस आ गये. पंचायती चुनाव के समय महिला सीट होने के कारण गोविंद सिंह की पत्नी मनीषा देवी ने चुनाव लड़ा, और भारी बहुमत से विजय हासिल किया.

यह भी पढ़े :- गौ हत्या पर उत्तर प्रदेश सरकार ने बनाया कानून, जानिए सजा का प्रावधान

चुनाव जीतने के बाद ग्राम प्रधान मनीषा देवी ने ग्राम विकास में होने वाले कार्य के प्रति तेजी दिखाई. गांव में चार बड़े शीशी मार्गों का निर्माण कराया और जल संरक्षण के लिए चार तालाब और सैकड़ों छोटे गुलर का निर्माण करवाया.

टुंडाचौड़ा गांव के प्रति उदासीन रही सरकार

राज्य सरकार से कई बार सड़क की मांग को उठाया गया, परन्तु हमेशा आश्वासन ही मिलता था. ग्राम प्रधान टुंडाचौड़ा द्वारा गांव के युवा साथियों को प्रोत्साहित करते हुए सड़क निर्माण की अलग जगाई .

यह भी पढ़े :- केदारनाथ धाम में हो रहे कार्य का प्रधानमंत्री ने किया अवलोकन

गोविंद सिंह और उनकी पत्नी द्वारा प्रतिनिधित्व करते हुए युवाओं को आगे किया .पिछले 12दिनों से गांव में सड़क निर्माण का कार्य चल रहा है इस सड़क निर्माण के दौरान आये कृषि भूमि को टुंडाचौड़ा गांव वालों ने सड़क निर्माण के लिए दान कर दिया.

इस सड़क निर्माण के होने से आसपास के 6 गांव को इसका फायदा मिलेगा. साथ ही राजकीय इंटर कॉलेज तक सड़क पहुंचने में सुविधा होगी. इस सड़क का लगभग 3 किलोमीटर तक निर्माण होना है, जिसके अंतर्गत एक बाजार भी आता है.

अब मिल रहा आस – पास के गांवो का सहयोग

शुरुआत में यह शुरुआत टुंडा चौड़ा के लोगों ने निर्माण कार्य शुरू किया था जिसमें अब नजदीक के तीन और ग्राम सभा इटाना, ग्रामसभा दुगई और ग्रामसभा खेती गांव के सभी युवा इस सड़क निर्माण मैं अपनी भागीदारी देने के लिए आगे आए हैं.

इस कार्य में ग्राम प्रधान मनीषा देवी और उनके पति गोविन्द सिंह के साथ इटाना के प्रधान लक्षमी देवी और उनके पति राजेन्द्र सेलाकोटी के साथ उनके गांव के युवा भी इस मुहीम में शामिल हुए.