कोरोना के चलते उत्तराखंड में लगभग 6 महीने बाद बोर्ड के छात्र छात्राओं के लिए विद्यालय खोले गए थे। कोरोना वैक्सीन टीकाकरण से अब कोरोना के हालात सामान्य होने के आसार हैं। करीब 9 महीने बाद उत्तराखंड सरकार ने कक्षा नवी और ग्यारहवीं के विद्यार्थियों के लिए विद्यालय खोलने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके साथ ही कक्षा 6 से 8 वींतक के छात्र-छात्राओं के लिए 1 फरवरी से स्कूल के निर्देश दिए हैं।

उत्तराखंड में विद्यालय खोलने की तैयारी

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि कोविड-19 की स्थिति अब पहले से कुछ सामान्य हो गई है। जिसे देखते हुए कक्षा 9 और 11वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए विद्यालय खोलने के निर्देश दिए गए हैं, साथ ही उन्होंने कहा कि अगले कुछ दिनों के अंदर इन कक्षाऊ के लिए स्कूल खोल दिए जाएंगे, तथा कक्षा छह से आठवीं तक के विद्यार्थियों के लिए 1 फरवरी से विद्यालय खोले जाएंगे।

शिक्षा विभाग की ओर से राज्य में स्कूलों को खोलने को लेकर प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है, हालांकि इस पर अंतिम निर्णय उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत लेंगे। मुख्यमंत्री और कैबिनेट बैठक में इस प्रस्ताव पर निर्णय हो जाने के बाद स्कूलों को खोल दिया जाएगा।

उत्तराखंड में विद्यालय खोलने की तैयारी,

प्राइमरी विद्यालय को लेकर अभी कोई निर्णय नहीं

शिक्षामंत्री ने कहा कि अभी प्राइमरी विद्यालय को खोले जाने को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया गया है। शिक्षा विभाग द्वारा प्रस्ताव तैयार कर इसे उत्तराखंड शासन को भेजा जा रहा है। विद्यालय खोलने से पहले SOP जारी की जाएगी तथा इसके बाद कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए विद्यालय को खोला जाएगा।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि सभी अधिकारियों को विद्यालय को खोलने को लेकर निर्देश दिए गए हैं। जिसके लिए अधिकारियों द्वारा प्रस्ताव तैयार किया जाना है। जिस पर अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री स्तर पर लिया जाएगा।

उत्तराखंड: इस तारीख से शुरू होगी डिग्री कॉलेजों में पढ़ाई, उच्च शिक्षा मंत्री ने दिए निर्देश

मनरेगा पर उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला, 100 की जगह 150 दिनों का मिलेगा रोजगार