उत्तराखंड: 4 युवाओं ने पेश की इमानदारी की मिसाल, वापस किए ₹52000

4

न्यूज डेस्क रुद्रप्रयाग- उत्तराखंड मेेें रहने वाले लोग अपनी ईमानदारी और विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध है, यहांं के लोगों में ईमानदारी सर्वप्रथम है, ऐसी ही एक कहानी रुद्रप्रयाग जिले मेंं देखने को मिली। जहां 4 युवाओं ने ईमानदारी की मिसाल पेश करते हुए ₹52000 वापस लौटाए।

यह भी देखें- सेना के वाहन की चपेट में आया बाइक सवार, मौके पर ही तोड़ा दम

जानिये क्या था मामला, रुद्रप्रयाग जिले के सतेराखाल क्षेत्र के चार युवक संदीप कोहली, तनुज रावत, विकास बर्त्वाल और राहुल सजवान केदारनाथ की यात्रा पर गए थे। 10 अक्टूबर को वापसी के दौरान रुद्रप्रयाग के संगम पर उन्हें एक पर्स मिला। पर्स में देखने पर उसमें कुुछ जरूरी सामान और ₹52110 थे।

4 युवाओं ने ईमानदारी की मिसाल पेश करते हुए वापस किया पर्स

चारों युवकों ने बिना किसी लालच के असली हकदार तक पहुंचाने का फैसला लिया, साथ ही उन्होंने रुद्रप्रयाग थाने में जाकर इसकी सूचना दी। चारों युवकों ने पर्स के असली हकदार तक पहुंचने के लिए सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी लोगों तक प्रसारित की।

दिल्ली निवासी श्रुति गुप्ता यात्रा के दौरान भूल गई थी पर्स

आखिरकार युवाओं की मेहनत रंग लाई और पर्स के असली हकदार तक इसकी जानकारी पहुंची। दिल्ली निवासी श्रुति गुप्ता केदारनाथ धाम की यात्रा के दौरान रुद्रप्रयाग में फोटो शूट करते समय पर वहीं पर भूल गई थी। युवाओं के प्रयास से मंगलवार को पर श्रुति और उसके परिजनों को सौंप दिया गया।

रुद्रप्रयाग जिले के सतेराखाल क्षेत्र के 4 युवाओं ने इमानदारी की मिसाल पेश कर पूरे क्षेत्र भर में उनकी सराहना हो रही है। श्रुति और उनके परिजनों ने चारों दोस्तों का धन्यवाद किया और कहा कि सिर्फ उत्तराखंड में ही इमानदारी और इंसानियत के ऐसे नजारे देखे जा सकते हैं। श्रुति ने कहा कि उन्होंने अपने पर्स को पाने की उम्मीद खो दी थी, परंतु इन 4 युवाओं की इमानदारी से उनका पर उन्हें वापस मिल पाया।

यह भी पढ़े- आ गए IPhone 12 सिरीज़ के 4 मोबाइल्स, देखें लुक और फीचर्स

देवभूमि देवभूमि उत्तराखंड में ऐसी इमानदारी की कहानियां अधिकतर सुनने को मिलती है जिससे देवभूमि का नाम और ऊंचा हो जाता है, हिंदू लाइव इन चारों युवकों के उज्जवल भविष्य की कामना करता है।