केदारनाथ धाम में हो रहे कार्य का प्रधानमंत्री ने किया अवलोकन

हिन्दू लाइव डेस्क :- केदारनाथ धाम में हो रहे कार्योंं का अवलोकन आज भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के द्वारा किया गया. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 31 दिसंबर तक सभी कार्य पूर्ण होने की बात कही .

जानिए केदारनाथ धाम के बारे में

केदारनाथ धाम उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित है. केदारनाथ धाम हिंदुओं की आस्था का प्रतीक है. यहां उत्तराखंड का विशाल शिव मंदिर है. केदारनाथ धाम तीन तरफ पहाड़ों से घिरा हुआ है. गौरीकुंड से केदारनाथ तक 18 किलोमीटर पैदल रास्ता है, हालांकि वहां पर घोड़े खच्चर की पूर्ण व्यवस्था होती है.

यह भी पढ़े :- गौ हत्या पर उत्तर प्रदेश सरकार ने बनाया यह कानून, जानिए सजा का प्रावधान

जानिए केदारनाथ में आई आपदा के बारे में

उत्तराखंड में जून 2013 को अचानक आई बाढ़ से काफी नुकसान हुआ था. इस बाढ़ में केदारनाथ सबसे अधिक प्रभावित रहा. इस बाढ़ से मंदिर को ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ा, परंतु मंदिरों के आसपास का क्षेत्र पूरी तरह तबाह हो गया.

केदारनाथ में हुए कुछ कार्य के बारे में

केदारनाथ में भैरव मंदिर के रास्ते पर पुल निर्माण कार्य पूरा हो चुका है और सरस्वती घाट का कार्य अभी चल रहा है. पुरोहितों के रहने के लिए घर बनाए जा रहे हैं जो लगभग सितंबर तक पूर्ण होंगे.

यह भी पढ़े :- उत्तराखंड: गैरसैंण बनी राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी

अध्यात्म की दृष्टि से केदारनाथ में तीन गुफाएं बनाए जा रहे हैं और मंदाकिनी नदी पर बन रहे पुल का कार्य प्रगति पर है. पिछले साल प्रधानमंत्री द्वारा एक गुफा मैं अध्यात्मिक किया था.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत द्वारा केदारनाथ में विभिन्न निर्माण कार्यों के लिए 200 करोड़ की मांग की गई साथ में ही मुख्यमंत्री ने यह कहा कि, भगवान केदारनाथ और बद्रीनाथ के दर्शनों के लिए सिर्फ राज्य के लोगों को ही अनुमति दी गई है. यात्रा के दौरान सबको मास्क का उपयोग और सामाजिक दूरी का पालन करना अनिवार्य है.