क्वॉरेंटाइन सेंटर के हाल, उठें उत्तराखंड सरकार पर सवाल

1

हिंदू लाइव डेस्क :- वैश्विक महामारी कोरोना के चलते राज्यों से बाहर फंसे प्रवासियों को अपने घर पहुंचाया जा रहा है। जिसमें उत्तराखंड राज्य सरकार अपने प्रवासियों को वापस लाने की पूरी तैयारी कर रही है। इसी दौरान घर आए प्रवासी लोगों को केंद्र सरकार की गाइड लाइन के अनुसार उन्हेंं 14 दिन क्वॉरेंंटाइन रखना अनिवार्य है, परंतुुु उत्तराखंड पौड़ी जिला के क्वॉरेंटाइन घर की हालत को देखकर लोगों ने सरकार पर कई सवाल खड़े किए हैं।

Uttarakhand quarantine center

उत्तराखंड में स्थित पौड़ी जिले के ग्राम सभा अमडांडा पल्ला (बैरुखाल) विकासखंड रिखणीखाल मैं दिनांक 8-5-2020 से लोगों को क्वॉरेंटाइन में रखा गया है, परंतु क्वॉरेंटाइन स्थल मकान न होकर एक अस्थाई तंबू बनाया गया है। लोगों ने क्वॉरेंटाइन घर की हालत देखकर इस पर सवाल उठाए हैं कि किसी गांव में प्राथमिक विद्यालय या पंचायत भवन नहीं है जहां क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाया जा सके। आखिर इस तरीके से कितने लोगों को कैसे क्वॉरेंटाइन में रखा जाएगा।

क्या इन अस्थाई क्वॉरेंटाइन घरों में लोग सुरक्षित है?

Leave A Reply

Your email address will not be published.