उत्तरकाशी में पिरूल प्लांट का मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया लोकार्पण

न्यूज डेस्क उत्तरकाशी- उत्तराखंड सरकार लगातार स्वरोजगार की तरफ उत्तराखंड के युवाओं का ध्यान आकर्षित करने पर बल दे रही है। राज्य सरकार की स्वरोजगार योजनाएं अब धरातल पर कार्य करती नजर आ रही है। बुधवार को उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंंह रावत ने उत्तरकाशी में पिरूल प्लांट का लोकार्पण किया।

यह भी पढ़े- उत्तरकाशी: मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने चिन्यालीसौड़ में किया सोलर पावर प्लांट का लोकार्पण

बता दे कि बुधवार को उत्तराखंड मुख्यमंत्री ने चिन्यालीसौड़ में सोलर पावर प्लांट का लोकार्पण करने के बाद डुंडा ब्लाक के चकोन गांव में पहुंचे। जहां पर उन्होंने 25 किलो वाट बिजली उत्पादन करने वाले गिरोह प्लांट का लोकार्पण किया।

जिला मुख्यालय से लगभग 45 किलोमीटर दूर चकोन गांव में 25 लाख की लागत से राज्य का पहला पिरूल प्लांट लगाया गया है। उत्तराखंड के लिए अभिशाप बने पिरुल अब रोजगार का जरिया बन रहा है।

चकोन गांव में बना यह प्लांट 25 किलोवाट का है, और इससे गांव के ढाई सौ लोग लाभाविंत हो रहे हैं तथा लगभग 10 लोगों को स्थाई रोजगार मिल रहा है।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंंह रावत ने गांव में रखे गए समारोह में धनपति नदी व इंद्रावती नदी तट पर बाढ़ सुरक्षा कार्य और चार धाम यात्रा को सुगम बनाने को लेकर लाटा सौरा से बूढ़ा केदार पवारी मोटर मार्ग के निर्माण की घोषणा की।

गंगोत्री विधायक गोपाल सिंह रावत ने मुख्यमंत्री का उत्तरकाशी में पिरूल प्लांट का लोकार्पण करने का के लिए आभार व्यक्त किया। साथ ही उन्होने युवा उद्यमी आमोद पंवार जी व पिरूल से बिजली पैदा करने के नवाचारी विचार से ओतप्रोत बायोमास पावर प्लांट स्थापित करने वाले महादेव गंगाड़ी को शुभकामनाएं दी।