उत्तरकाशी जिला पंचायत अध्यक्ष की मुश्किलें बढ़ी, वित्तीय अनियमितताओं मामलों की जांच के आदेश

ख़बर शेयर करें

न्यूज़ डेस्क उत्तरकाशी: उत्तरकाशी जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिज्लवाण की मुुुुसीबते थमने का नाम नहीं ले रही है. वित्तीय अनियमितताओं मामलोंं के चलते अब सचिव पंचायती राज ने उनके खिलाफ जांंच के आदेश दिये है.

बड़ी खबर: सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं की तिथि घोषित, शिक्षा मंत्री ने की घोषणा

मिली जानकारी के अनुसार वित्तीय अनियमितताओं मामलों को लेकर सचिव पंचायती राज ने उत्तरकाशी जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिज्लवाण के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं. हालांकि जिला पंचायत अध्यक्ष ने सचिव के आदेश को हाईकोर्ट में याचिका दायर कर चुनौती दी है. जिसकी अगली सुनवाई 7 जनवरी को होनी है.

बता दे कि एक व्यक्ति ने अध्यक्ष दीपक बिज्लवाण पर वित्तीय अनियमितताओं को लेकर उत्तराखण्ड मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को शिकायत पत्र भेजकर जांच की मांग की थी. जिसकी जांच गढ़वाल कमिश्नर को सौंपी गई थी. हालांकि दीपक बिज्लवाण ने कहा कि उन्होंने कोई वित्तीय अनियमितता नहीं की तथा उनके खिलाफ यह शिकायत राजनीतिक दुर्भावना पुर्ण है. बता दे कि हाईकोर्ट में सरकार की ओर से जांच के आदेश वापस लेने की बात कही थी. ऐसे में मामला समाप्त हो गया था.

उत्तराखंड: दुकानदार ने सिगरेट के पैसें मांगे तो गुस्साए पुलिसकर्मी ने कर दी हत्या

सचिव पंचायती राज की ओर से 22 दिसंबर को उत्तरकाशी जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिज्लवाण के खिलाफ जांच के आदेश जारी किये. जिसको लेकर जिला पंचायत अध्यक्ष द्वारा हाईकोर्ट में याचिका दर्ज की. बृहस्पतिवार को न्यायाधीश न्यायमूर्ति मनोज कुमार तिवारी की एकल पीठ ने इस मामले की सुनवाई की. जिला पंचायत अध्यक्ष द्वारा इस मामले में दस्तावेज दाखिल करने के लिए समय मांगा गया. हाई कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए 7 जनवरी नियत की है.


ख़बर शेयर करें