उत्तरकाशी: तांबाखाणी सुरंग के पास कबाडे़ का ढेर दिखा रहा स्वच्छ भारत अभियान को ठेंगा

ख़बर शेयर करें

न्यूज डेस्क उत्तरकाशी- भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 को स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थी, जिसका उद्देश्य देश को स्वच्छ बनाने को लेकर सभी लोगों का साथ हो, परंतु उत्तरकाशी की तांबाखाणी सुरंग के पास कबाडे़ का ढेर स्वच्छ भारत को ठेंगा दिखा रहा है।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य कोरोना संक्रमित

तांबाखाणी सुरंग के मुहाने पर कबाडे़ का ढेर लगा हुआ है, जबकि यह सुरंग जिला मुख्यालय से लगभग 1 किलोमीटर की दूरी पर है। ऐसे में यह कबाड़ के ढेर कई सारे सवाल खड़े करता है।

तांबाखाणी सुरंग के पास कबाडे़ का ढेर दिखा रहा स्वच्छ भारत अभियान को ठेंगा

जहां सुरंग के एक और कबाडे़ का ढेर लगा हुआ है, वही सुरंग से बाहर जाते हुए सड़क को बंद कर उधर कूड़ा का ढेर लगा हुआ है, जिसका नीचे बह रही भागीरथी नदी में गिरने के आसार है। सुरंग मुहाने पर कचरे के ढेर से इतनी दुर्गंध आती है कि सुरंग के पास खड़ा रहना मुश्किल हो जाता है।

यह भी देखें- सोशल मीडिया पर फोटो वायरल, उत्तराखंड सरकार पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का आरोप

अब इस कचरे और कबाड़ के ढेर के लिए नगर पालिका, जिला पंचायत या गंगोत्री विधानसभा के विधायक में से कौन जिम्मेदार होगा। आखिर जिला मुख्यालय के प्रवेश द्वार पर यह कचरे और कबाड़ का ढेर क्या संदेश देगा।


ख़बर शेयर करें

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें