देहरादून से 40 मिनट में उत्तरकाशी पहुंची वैक्सीन, पढ़ें पूरी खबर

उत्तराखंड के दुर्गम अस्पतालों में दवाई व वैक्सीन पहुंचाने के लिए सरकार ने नई तकनीकी का इस्तेमाल किया है। इस तकनीक के माध्यम से देहरादून से उत्तरकाशी तक 40 मिनट में वैक्सीन पहुंचाई गई। बता दें कि सड़क मार्ग के द्वारा देहरादून से उत्तरकाशी पहुंचने में लगभग 6-7 घंटे का समय लगता है। ऐसे में दूरस्थ अस्पतालों व आपातकालीन स्थिति में यह तकनीकी बेहद कारगर साबित होगी। स्वास्थ्य सचिव डॉ राजेश कुमार ने बताया कि आईटीडीए की सहायता से ड्रोन से बीपीटी और पेंटा की 410 मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय उत्तरकाशी पहुंचाई गई। फिटनेस और डिप्थीरिया की वैक्सीन की 400 डोज स्वास्थ्य विभाग में ड्रोन के माध्यम से 40 मिनट में उत्तरकाशी भेजने का सफल ट्रायल किया।

यह भी पढ़ें- बीबी गुस्सा है साहब प्लीज़ छुट्टी दे दो, वायरल हुई सिपाही की एप्लिकेशन 

स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि दवा या वेतन पहुंचाने के लिए राज्य में सड़क मार्ग का उपयोग किया जाता है जिसमें काफी समय लगता है। कभी-कभी आपदा के कारणों से भी दवा पहुंचने में परेशानी होती है। स्वास्थ्य विभाग का प्रयास है कि दवा वितरण में किसी भी प्रकार की देरी ना हो और समय पर सभी चिकित्सा इकाइयों व ऐसे स्थान जहां सड़क मार्ग की सुविधा नहीं है वहां पर भी दवाई वैक्सीन उपलब्ध हो। उत्तराखंड सीएम पुष्कर सिंह धामी तथा स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर धर्म सिंह रावत ने अब आगामी दिनों में राज्य के सुदूर इलाकों में द्रोण के माध्यम से कोविड-19 वैक्सीन पहुंचाने के कार्य का शुभारंभ करेंगे। यह पहल स्वास्थ्य विभाग व इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी डेवलपमेंट एजेंसी के संयुक्त तत्वधान में की गई।

Words matter! Facts matter! Truths matter!