उत्तराखंड: पर्वतीय जिलों में दो दिन बारिश के आसार, मैदानी इलाकों में नहीं मिलेगी राहत

उत्तराखंड में पड़ रही भीषण गर्मी से अब लोगों को राहत मिलने वाली है। मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों तक भारी वर्षा होने की चेतावनी दी है, साथ ही नदियों में उफान और भूस्खलन को लेकर भी अर्लट किया गया है।

यह भी पढ़ें- उत्तरकाशी: 1 जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक होगा बंद, इस्तेमाल पर होगी ये कार्रवाई

मौसम विभाग केंद्र देहरादून ने उत्तराखंड के 4 जिलों में भारी बारिश होने का अनुमान जताया और पर्वतीय जिलों में कहीं-कहीं तीव्र बौछारें पड़ने की भविष्यवाणी की गई है। उत्तराखंड में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से शनिवार रात पर्वतीय क्षेत्रों में झमाझम वर्षा हुई। मौसम विभाग के अनुसार, आज से अगले पांच दिन तक प्रदेश में झमाझम वर्षा के आसार हैं।

मौसम विभाग के अनुसार पिथौरागढ़ बागेश्वर चंपावत और नैनीताल जिले में सोमवार को भारी बारिश हो सकती है। इन जिलों में बारिश को लेकर मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है। रविवार को पंतनगर में 7.8 मिमी, काठगोदाम में एक मिमी और कालाढूंगी में 14 मिमी बारिश हुई। रविवार की वर्षा ने लोगों को गर्मी से राहत दी।

यह भी पढ़ें- विकास की धीमी रफ़्तार: चार साल बाद सड़क से जुड़ेगा दिवंगत CDS बिपिन रावत का गांव

उत्तराखंड में 29 जून को मानसून के पहुंचने की संभावना है। मौसम विभाग द्वारा इस दिन राज्य के कई हिस्सों में भारी वर्षा की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार 29 जून को भारी वर्षा के साथ मानसून प्रदेश में दस्तक दे सकता है। इसको लेकर आरेंज अलर्ट जारी किया गया है।