चीन का पीओके पर कब्जा, चीन और पाकिस्तान से हुई ये डील

पाकिस्तान और चीन बीच 2.4 बिलियन डॉलर की लागत से बनने वाले 1,124 मेगावाट विद्युत परियोजना को लेकर एक त्रिपक्षीय समझौते पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने हस्ताक्षर कर दिए हैं. चीन की यह परियोजना यह परियोजना झेलम नदी पर पीओके (पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर) के सदनोटी जिले में स्थित है. चीन का कहना है कि यह परियोजना वर्ष 2026 में पूरा होने की उम्मीद है.

यह भी पढ़े- उत्तराखंड के 2 जिले हुए कोरोना मुक्त, बाकी जिलों में बड़ी तेजी से हो रही है रिकवरी

भारत ने इस विघुत परियोजना को अवैध बताया है और इसे लेकर चीन का विरोध किया है, क्योंकि इसे PoK में किया जा रहा है. दरअसल 1947 के समय पाकिस्तान ने पीओके पर अवैध कब्जा कर लिया था.

इस वर्ष के प्रारंभ में विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान को बताया गया कि गिलगित और बाल्टिस्तान के क्षेत्रों सहित पूरे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत का अभिन्न अंग हैं और इस्लामाबाद को अपने अवैध कब्जे के तहत क्षेत्रों को तुरंत खाली करना चाहिए.