उत्तराखंड

Pod Taxi: देहरादून और हरिद्वार में दौड़ेगी पॉड टैक्सी, जानिए रुट प्लान

Pod Taxi Dehradun and Haridwar: राजधानी देहरादून को अपग्रेड करने के लिए धामी सरकार अपनी हर मुमकिन कोशिश कर रही है। प्रदेश सरकार अब शहर को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने के लिए ट्रांसपोर्टेशन संबंधित प्रोजेक्ट्स पर ध्यान दे रही है।

केंद्रीय मंत्रालय के मेट्रो नियो के प्रस्ताव पर ब्रेक लगने के बाद अब धामी सरकार पॉड टैक्सी (Pod Taxi) के संचालन की तैयारी में हैं। संभवतः सरकार इस उन्नत तकनीक की टैक्सी को देहरादून के साथ साथ हरिद्वार (Haridwar) में भी संचालन करने जा रही है। आईए आगे जानते हैं कि प्रदेश सरकार के इस प्लान में क्या ख़ास बात और यह शहर में किन-किन रूटों से ट्रैवल करेगी।

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड में जल्द लागू होगी समान नागरिक संहिता

खबरों की माने तो देहरादून (Dehradun) में होने वाले मेट्रो संचालन की बात बीच में ही रहने की वज़ह से मुख्य सचिव डॉक्टर एसएस संधू ने उत्तराखंड के मेट्रो रेल कॉरपोरेशन से जांच करने के बाद रिपोर्ट मांगी है। सूत्रों के हवाले से यह भी कहा गया है की उत्तराखंड मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने एक कॉम्प्रिहेंसिव प्लान बनाया जिसमें पी.आर.टी सिस्टम का एक प्रेजेंटेशन दिया।

दिए प्रेजेंटेशन में सिंगापुर को बेस बनाकर पर्सनल रैपिड ट्रांजिट ट्रांसपोर्ट को लाने का सुझाव दिया है।जिसके तहत इन पॉड टैक्सी का संचालन बिना ड्राइवर के होगी। और कमेटी द्वारा इस योजना पर सहमति भी दर्ज़ करवाई गई थी।

25 किलोमीटर पॉड टैक्सी का  प्रस्ताव

बता दें की उत्तराखंड मेट्रो रेल कॉरपोरेशन द्वारा लगातार तीन प्रस्ताव को लाया गया था, जिसमें 2022 करोड़ की लागत से शहर के भीतर किलोमीटर तक चलने वाली रोपवे थी, दूसरा 1778 करोड़ की लागत से 25 किलोमीटर एलिवेटेड बस रैपिड ट्रांजिट का प्रेजेंटेशन दिया था, जिसे मुख्य सचिव द्वारा अव्यावहारिक बताया गया था।

तीसरा विकल्प 1753 की लागत से 25 किमी तक बनने वाली इस पॉड टैक्सी की थी। अब पॉड टैक्सी के रूट की बात करें तो दून में 25km तक पीआर टी सर्वे करवाया जाएगा। इसके पहले चरण में पंडित वाड़ी से रेलवे स्टेशन तक पायलट प्रोजेक्ट के नाम पर 6 KM के रूट पर संचालन किया जाएगा।

देहरादून में चलेगी 500 पॉड टैक्सी

देहरादून मेट्रो कॉरपोरेशन के प्रोजेक्ट के अंतर्गत शहर में 500 पॉड टैक्सी चलाई जाएंगी। जिसमें कुल 6 लोग बैठ सकेंगे। इन टैक्सियों की रफ्तार 40KM से 60KM प्रति घंटा होगी। कॉरपोरेशन द्वारा तैयार किए गए रूट को चिन्हित कर ट्रैफिक ओर ट्रांसपोर्टेशन को स्टडी किया जाएगा।

Pod Taxi Dehradun Haridwar News image

तत्पश्चात कॉरपोरेशन इसकी डीपीआर तैयार करके प्रशासन को सौंपेगी। यह एक एडवांस्ड किस्म की टैक्सी होगी। इसके लिए तैयार किए गए स्टेशन में प्रवेश तथा निकास द्वार टच स्क्रीन माध्यम से एक्सेस कर सकते हैं। सरकार द्वारा लाई गई इस उन्नत योजना की मदद से दून शहर को ट्रैफिक जाम से निजात मिलेगी।

Editorial

This article was written by the Hindu Live editorial team.
Back to top button