उत्तराखंड

खुशखबरी: अब विदेशों के लिए जौलीग्रांट एयरपोर्ट से उड़ान भर सकेंगी फ्लाइटें

देहरादून. उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से जल्द ही अंतरराष्ट्रीय उड़ान की प्रक्रिया शुरू होने की बात धामी सरकार ने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही हैं। सरकार के मुताबिक़ वे जल्द ही जौलीग्रांट एयरपोर्ट और पंतनगर एयरपोर्ट से अंतरराष्ट्रीय उड़ान भरने की तैयारी शुरू कर रहे हैं। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा की पूरे देश की नज़र उत्तराखंड पर है और वे प्रदेश के बजट को हर रूप में समावेशी बनाएंगे जिससे प्रदेश के विकास में किसी प्रकार का बाधा न आ सकें।

Dehradun jolly grant airport image

धामी ने यह भी कहा है कि तत्कालीन उन सभी मुश्किलों का समाधान करेंगे जिससे एयरपोर्ट को अंतराष्ट्रीय बनाने में वे सफल हो सकें। इसके आलावा कालसी के नज़दीक हरिपुर में नई टाउनशिप बनाने की भी बात कही जा रही हैं। अब देखना यह दिलचस्प होगा कि आख़िर कब तक ये सौगात उत्तराखंड वासियों को दी जाएगी।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी इन दिनों लगातार किसी न किसी वज़ह से सुर्खियों में रह रहे है कभी नए भर्तियों के लिए, कभी नई भर्तियों के लिए तो कभी अंतराष्ट्रीय उड़ान की प्रक्रिया को शुरू करने को लेकर सरकार लगातार अपनी तमाम कोशिशों से उत्तराखंड को एक नई रूप में बदलने की कोशिश में लगे हुए हैं। अब एक बार फ़िर सरकार अपनी विकासशील प्रगति को लेकर सुर्खियों में है। दरअसल सीएम पुष्कर सिंह धामी ने जब से उत्तराखंड की कमान संभाली है तब से पूरे देश की नज़र उत्तराखंड पर टिकी हुई हैं।

बता दें सरकार ने डेढ़ साल पहले ही उत्तराखंड की कमान संभाली है जिसके बाद लगातार काम को लेकर सुर्खियों में धामी सरकार बनी हुई हैं अब चर्चा का विषय उत्तराखंड की परिवहन निगम है , साल 2000 में उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश अलग हुई थी जिसके तीन साल बाद कुल 957 नए पुराने बसों को उत्तराखंड परिवहन विभाग को सौंपा गया था। मगर धीरे धीरे ख़राब सड़कों और पहाड़ों के तीखे रास्तों ने इनके सभी बसों की हालात बुरे कर दिए यहां तक की परिवहन विभाग के पास न तो नई बसों को खरीदने के पैसे थे न ही अपने कर्मचारियों को वेतन देने के और उसके बाद साल 2020 में कोरोना महामारी के बाद परिस्थिति बद से बदतर होती चली गई।

साल 2020 का कर्जा 250 करोड़ से बढ़कर साल 2022 में 520 करोड़ तक पहुंच गया और परिवहन विभाग की हालत ख़राब हो गई। जिसके बाद धामी सरकार ने कमान संभाली और केवल डेढ़ सालों में उन सभी कर्जों को चुकता भी किया और 27 करोड़ रुपए का मुनाफा कर अपने गुड गवर्नेंस को पेश कर मिसाल तय किया है।

यूं तो फिल्हाल कुल 1350 बसों का संचालन किया जा रहा हैं जिसमें 151 सीएनजी युक्त बसें दिल्ली रूट में चलती है। आने वाले समय में 200 सीएनजी बसे खरीदने की तैयारी भी की जा रही हैं। और पहाड़ी क्षेत्रों के लिए 130 बसों को खरीदने की प्रक्रिया अंतिम चरण में चल रही हैं। आपको यह भी बता दें की धामी सरकार ने सभी विभागों को मिलाकर कुल 56 करोड़ रुपए की कमाई की है जो उत्तराखंड सरकार का रिकॉर्ड बना दिया है।

Deepak Panwar

journalist and the founder of “Hindu Live” With a wealth of experience, his contributions to journalism are marked by a commitment to fair and balanced reporting.
Back to top button