सस्ते राशन के साथ सरकार गरीबों को मुफ्त देगी मोटा अनाज, इन परिवारों को मिलेगा लाभ

भारत सरकार की अंत्योदय अन्न योजना (Antyodaya Anna Yojana) में बड़ा बदलाव किया गया है। इसकी शुरुआत भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश से हो चुकी है ओर धीरे-धीरे यह पूरे देशभर में लागू हो जाएगी। दरअसल भारत सरकार सस्ते दाम पर आजतक जो राशन देती थी उसमें मोटे अनाज का मुफ्त वितरण की घोषणा की गई है। इसका लाभ सभी राशनकार्ड धारकों को मिलेगा।

सरकार गेहूं चावल और चीनी को 2 से पांच रुपए प्रति किलो के सस्ते दाम पर बेचती है।‌ चावल का बाजार में वास्तविक मूल्य 20 रुपए प्रति किलो है जबकि Antyodaya Anna Yojana के तहत गरीब परिवारों को 2 रुपए प्रति किलो की दर से मुहैया कराया जाता है।

अंत्योदय कार्ड धारकों को 5 किलो मुफ्त बाजरा

ध्यान हो कोरोना काल में सरकार ने यही गेहूं और चावल मुफ्त में बांटे थे। अब इस योजना के तहत अंत्योदय कार्ड धारकों को गेहूं-चांवल के साथ मोटा अनाज यानी बाजरा मुफ्त में दिया जाएगा। यह योजना यूपी सरकार ने लागू कर दी है। ध्यान दें यह स्कीम उन्हीं परिवारों के लिए लागू होती है जिनका अंत्योदय अन्न योजना कार्ड बना हो। राशनकार्ड 3 तरह के होते हैं जिसमें पहला बीपीएल (पीले कार्ड) दूसरा, एपीएल (सफेद कार्ड) व तीसरा अन्त्योदय कार्ड (गुलाबी रंग)। भारत में वर्तमान समय में 1 करोड़ 90 लाख अन्त्योदय परिवार हैं जिन्हें बाजार मुफ्त में बांटे जाने की घोषणा सरकार पर चुकी है। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार हर अन्त्योदय परिवार को राशन के साथ 5 किलो बाजरा मुफ्त में बांटने जा रही है। 

About the Author

This article was written by the Hindu Live editorial team.

For Feedback - feedback@abcd.com