रोचक जानकारी: सबसे गंदा धर्म कौन सा है?

दुनिया में दस हजार से ज्यादा धर्म है, जिन्हें मानने वाले लोगों की संख्या भी अरबों-खरबों में है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको दुनिया के सबसे बड़े धर्म और सबसे गंदा धर्म कौन सा है? के बारे में बताने वाले हैं। यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आता है तो अपने सगे-संबंधियों से अवश्य सांझा करें।

 

चाहे वह भारतीय हो विदेशी वह किसी ना किसी धर्म या पंथ को फोलो करता है। दुनियाभर में सबसे ज्यादा प्रचलित धर्म हिन्दू, जैन, बौद्ध, सिख, ईसाई, इस्लाम और यहूदी है। इन सात धर्मों को मानने वाले लोगों की संख्या दुनियाभर में कई बिलियन है। अब सवाल उठता है कि सबसे गंदा धर्म कौन सा है? तो इसका उचित जवाब यह है कि कोई भी धर्म गंदा नहीं है ओर कोई भी धर्म आपस में बैर रखना नहीं सिखाता है।

दुनिया का सबसे बड़ा धर्म?

विश्व में सबसे ज्यादा लोग ईसाई धर्म को मानते हैं यह कुल जनसंख्या का 31 फीसदी है। आंकड़ों के मुताबिक दुनियाभर में ईसाईयों की संख्या 220 करोड़ से अधिक है। ज्ञात हो कि यह पूर्ण रूप से धर्म ईसा मसीह के जीवन और शिक्षाओं पर आधारित है। इसकी स्थापना आज से लगभग 2 हजार साल पहले हुई थी। ईसाइयों को धर्म ग्रंथ बाइबल के अनुसार ईसा मसीह ने खुद को इश्वर का पुत्र कहा है।

दुनिया का सबसे अच्छा धर्म

सात प्रमुख धर्मों में से एक हिंदू धर्म अथवा सनातन धर्म विश्व का सबसे पुराना धर्म है। इसकी स्थापना 90 हजार साल पुराना है और दुनिया का सबसे अच्छा धर्म माना जाता है।

[irp]

About the Author

This article was written by the Hindu Live editorial team.

For Feedback - feedback@hindulive.com