उत्तराखंड में बदला मौसम का मिजाज, झमाझम बरसात के साथ बर्फबारी

बीते दिनों मौसम विभाग द्वारा पूर्वानुमान किया गया था, कि आने वाले दिनों में पहाड़ी क्षेत्रों के साथ-साथ मैदानी इलाकों में बारिश और बर्फबारी के आसार रहेंगेओर हुआ भी कुछ ऐसा ही विभाग द्वारा जितने भी अनुमान लगाए गए थे, वो सटीक सभी साबित हुए हैं।

उत्तराखंड में मौसम ने करवट ली है कई जिलों जमकर बारिश तो कई क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी हुई है। देहरादून मौसम विभाग विभाग ने पहाड़ी जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। विभाग द्वारा यह बताया गया है कि बीते बुधवार के साथ साथ गुरुवार को भी यह अलर्ट जारी रहेगा।हालांकि जनवरी महीने के आखिरी दिन मौसम में बदलाव से राहत जरूर मिली है मगर आने वाले वेस्टर्न डिस्टर्बेंस से मौसम वापस खराब होगा।

मौसम विभाग ने जारी किया था ऑरेंज अलर्ट

IMD ने जैसा बताया था ठीक वैसा ही मौसम में बदलाव दर्ज़ किया गया है। अचानक मौसम की बदलाव की वज़ह वेस्टर्न डिस्टर्बेंस है। प्रदेश के कई जनपदों में गर्जना के साथ बिजली चमकने और ओलावृष्टि की संभावना जाहिर की गई है।राजधानी देहरादून की बात करें तो हल्की बूंदाबांदी हुई और सुबह गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में बर्फबारी भी दर्ज़ की गई हैं। चकराता के लोखंडी में इस सीज़न की पहली बर्फबारी भी दर्ज़ की गई हैं जिससे वहां के बागवानों ने भी राहत की सांस ली है।

5 जिलों में भारी बरसात के साथ बर्फबारी

उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथोरगढ़ और बागेश्वर में भी अगले दो दिनों तक बर्फबारी की संभावना जताई गई हैं। इस साल के ठंड ने लोगों के साथ अपनी बेरुखी बड़े अच्छे तरीके से दर्ज़ करवाई है। नवंबर माह के शुरुआत में हल्की बारिश हुई थी जिसके बाद बिलकुल भी बारिश नहीं हुई। मैदानी क्षेत्रों में केवल कुहासों से लोगो की जिंदगी अस्त व्यस्त हो चुकी है।  किसानों के अनाज ख़राब होने के कगार पर थी।

About the Author

This article was written by the Hindu Live editorial team.

For Feedback - feedback@abcd.com